औपचारिक पत्र लेखन का प्रारूप (Formal Letter Format in Hindi)

औपचारिक पत्र लेखन का प्रारूप (Formal Letter Format in Hindi): यहां एक पूर्ण और प्रभावी औपचारिक पत्र लेखन की आसान विधि दी गई है, जिससे आप विभिन्न स्थितियों में सुरक्षित और संवेदनशील तरीके से अपने पत्रों को लिख सकते हैं।

अनौपचारिक पत्र लेखन का प्रारूप || Informal Letter Format in Hindi || औपचारिक पत्र लेखन का प्रारूप || Formal Letter Format in Hindi

औपचारिक पत्र लेखन का प्रारूप (Formal Letter Format in Hindi):

  1. पत्र का पता:
    • अगला आता है पत्र का पता। इसमें प्राप्तकर्ता का पूरा पता, तारीख, और आपका पता होता है।
  2. विषय:
    • बाद में आता है पत्र का विषय, जिसमें आप सारी बातें संक्षेप में लिखते हैं।
  3. प्रथम भाग (परिचय):
    • अगला होता है पत्र का पहला भाग, जिसमें आप स्वयं को परिचित कराते हैं और आपका उद्देश्य क्या है।
  4. मुख्य भाग:
    • इसमें आप विस्तार से अपनी बातें, समस्याएं, या अनुरोध प्रस्तुत करते हैं।
  5. निष्कर्ष:
    • अब, आप अपनी बात समाप्त करते हैं और किसी निर्णय या कदम की अपेक्षा रखते हैं।
  6. आभारी भाग:
    • अगर आपने किसी मदद, सुझाव, या आदान-प्रदान के लिए धन्यवाद करना हो, तो इसके बाद एक आभारी भाग होता है।
  7. निष्कर्ष (समापन):
    • आखिर में, पत्र को समाप्त करने के लिए निष्कर्ष भाग लिखा जाता है, जिसमें आप आशीर्वाद, धन्यवाद, या अन्य आवश्यक बातें शामिल कर सकते हैं।


औपचारिक पत्र लेखन का उदाहारण (Example of Formal Letter Writing):

उदाहरण: 1

श्रीमान [प्राप्तकर्ता का नाम],

[प्राप्तकर्ता का पता],

[शहर, राज्य, पिनकोड]

तारीख: [तारीख]

विषय: [पत्र का विषय]

प्रिय/आदरणीय [प्राप्तकर्ता का नाम],

सविनय नमस्ते। मुझे आशा है कि यह पत्र आपको सुस्त और सुरक्षित हाथों पहुँचेगा। [पत्र के मुख्य भाग में अपनी बातें, समस्याएं, और अनुरोधों को विस्तार से लिखें] इस समस्या का निवारण के लिए मैं आपसे निवेदन करता हूँ कि आप इस पर ध्यान दें और सम्भावना से सम्बंधित कदम उठाएं। मैं आपकी जल्दी से सकारात्मक प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा करता हूँ। आपकी शीघ्र प्रतिक्रिया का हमें इंतजार रहेगा।

धन्यवाद,

सादर,

[आपका पूरा नाम]

[पाद, शिक्षा, या पद]

[संस्था या कंपनी का नाम (यदि लागू हो)]

यह एक औपचारिक पत्र लेखन का उदाहारण है जिसे आप अपनी आवश्यकताओं के अनुसार बदल सकते हैं। इसमें उपयुक्त जानकारी और समर्पण होना चाहिए ताकि पत्र प्रभावी हो सके।

उदाहरण: 2

साथी,

[आपका पता]

[तारीख]

प्रिय साथी,

सविनय नमस्ते। आशा है कि आप स्वस्थ और सुखद महसूस कर रहे होंगे। इस पत्र के माध्यम से मैं आपको बताना चाहता हूं कि [विषय]। [मुख्य भाग - यहां आप अपनी बातें विस्तार से लिखें] अगर आप हमारी इस समस्या का निराकरण कर सकते हैं, तो कृपया हमें सूचित करें। हम आपकी सकारात्मक प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा करेंगे और आपकी सहायता के लिए कृतज्ञ रहेंगे। आपकी शीघ्र प्रतिक्रिया का हमें इंतजार रहेगा। धन्यवाद, आभारी रहें,

[आपका नाम]

यह एक औपचारिक पत्र लेखन का प्रारूप है जिसे आप अपनी आवश्यकताओं के अनुसार बदल सकते हैं।

औपचारिक पत्र लेखन का प्रारूप (Formal Letter Format in Hindi):

अनौपचारिक पत्र लेखन का प्रारूप (Informal Letter Format in Hindi)

अनौपचारिक पत्र लेखन का प्रारूप || Informal Letter Format in Hindi || औपचारिक पत्र लेखन का प्रारूप || Formal Letter Format in Hindi

महा शिवरात्रि कब है (Mahashivratri Kab Hai 2024) शुभ मुहूर्त,व्रत नियम,कथा व महत्व

Sarkari Schools
Sarkari Schools
Articles: 1220